नागौर

अभियान नयन दृष्टि नागौर मोतियाबिंद की बीमारी से तकलीफ पा रहे हैं, उनके लिए अच्छी खबर

 

नागौर:  कच्ची बस्तियों से लेकर गांव-ढाणी तक बैठे वे नागौरवासी, जो मोतियाबिंद की बीमारी से तकलीफ पा रहे हैं, उनके लिए अच्छी खबर है।

जिला अधंता निवारण समिति, साइटसेवर्स तथा उरमूल खेजड़ी संस्थान के साथ मिलकर जिले में मोतियाबिंद से ग्रसित लोगों की रोशनी लौटाने के लिए एक पुनीत अभियान चला रही है, जिसका नाम रखा गया है ‘अभियान नयन दृष्टि‘-नागौर

नागौर

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मेहराम महिया ने बताया कि जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी के मार्गदर्शन में संचालित किए जाने वाले इस इस अभियान नयन दृष्टि के तहत जिला अंधता निवारण समिति, साइट सेवर्स तथा उरमूल खेजड़ी संस्थान की टीम संयुक्त रूप से एक सर्वे करेगी,

Join on whatapps

Join on telegram

जिसमें मोतियाबिंद से ग्रसित लोगों की पहचान कर उनका डाटा बेस तैयार किया जाएगा। इसके लिए 6 दिसम्बर को झाडे़ली गांव स्थित उरमूल खेजड़ी संस्थान परिसर में एक मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षण शिविर भी रखा गया है। ‘अभियान नयन दृष्टि‘ नागौर के तहत प्रथम चरण में होने वाले प्रशिक्षण के तहत उन स्वयंसेवकों को मास्टर ट्रेनर का नेत्र रोग विशेषज्ञ व नेत्र सहायक प्रशिक्षण देंगे।

अन्य तहसील की खबर

Makrana news

Merta news

Kuchaman

Riya badi

Khiwsar news

Didwana

Rajasthan

Home page

अभियान नयन दृष्टि‘ नागौर कार्यक्रम साइटसेवर्स संस्थान की ओर से करवाया जाएगा

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम साइटसेवर्स संस्थान की ओर से करवाया जाएगा। प्रशिक्षण के बाद इन मास्टर ट्रेनर को सहायक उपकरण भी प्रदान किए जाएंगे, जिससे वे सर्वे के दौरान मोतियाबिंद के रोगियों की पहचान कर उनका डाटाबेस तैयार कर सके।

रोगियों की पहचान के साथ-साथ जिले में मोतियाबिंद से ग्रसित लोगों की पहचान व डाटा बेस तैयार करने के बाद अभियान के तहत जिले के सरकारी अस्पतालों में उनका निशुल्क ऑपरेशन भी होगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महिया ने बताया कि अभियान नयन दृष्टि- नागौर के तहत जिले में पहला मोतियाबिंद ऑपरेशन शिविर 22 दिसम्बर को डेगाना के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में आयोजित किया जाएगा

अभियान का आगाज करने के लिए मास्टर ट्रेनर्स के प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिले के चार ब्लॉक जायल, नागौर, मूंडवा और डीडवाना से 20 संभागी भाग लेंगे। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम को लेकर गुरूवार को स्वास्थ्य भवन में एक बैठक रखी गई। इस बैठक में मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षण कार्यक्रम से लेकर आगामी 22 दिसम्बर को आयोजित होने वाले मोतियाबिंद चिकित्सा शिविर की कार्ययोजना पर विचार मंथन किया गया।

बैठक में जिला अंधता निवारण समिति के सदस्य अशोक चौधरी, हेमन्त उज्जवल, साइटसेवर्स संस्था के नित्यानंद राज तथा उरमूल खेजड़ी संस्थान के देवाराम नायक शामिल होंगे।

2 thoughts on “नागौर में चलेगा अभियान नयन दृष्टि, मोतियाबिंद की बीमारी की होगी जांच”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *