अनूठी पहल

अनूठी पहल: शादी में कार्ड की जगह गमले देकर मेहमानों को किया निमंत्रण

अनूठी पहल : शादी में कार्ड की जगह गमले देकर निमंत्रण किया, दहेज़ में 101 पौधे और ग्राम पंचायत को 11 पेड़ दिए 

Rajasthan: अलवर जिले के गांव बूढी बावल में परिजनों ने पर्यावरण संरक्षण के लिए अनूठी पहल करते हुए अपनी बहन की शादी में 1500 से अधिक पेड़-पौधे भेंट किए हैं। परिवार ने करीब 1400 लोगों को निमंत्रण दिया। निमंत्रण में कार्ड की जगह गमले सहित 1400 पौधे भेंट किए गए।

अनूठी पहल: दहेज़ में बेटी के ससुराल पक्ष को 101 पौधे भेंट

वहीं शादी में परिजनों ने दहेज़ में बेटी के ससुराल पक्ष को 101 पौधे और ग्राम पंचायत को 11 छायादार वृक्ष देकर समाज में पर्यावरण संरक्षण का उदाहरण पेश किया है।

अनूठी पहल

क्या है पूरा मामला Anuthi pahal का जाने

अलवर जिले के बूढी बावल निवासी रामकुंवर टहरकिया ने अपनी पोती सपना का विवाह रेवाड़ी के गांव ततारपुर इस्तमुरार निवासी विजय यादव के बेटे प्रवीण के साथ किया है। गांव में दहेज़ प्रथा के खिलाफ दुल्हन के भाई सुनील यादव ने पहल करते हुए यह पहल की है।

घर घर जाकर बाटे गमले 

अलवर सहित राजस्थान व हरियाणा के विभिन्न जिलों में घर-घर जाकर निमंत्रण में कार्ड की जगह पौधे बांटे। सुनील यादव ने बताया कि कार्ड छपाई में कागज का उपयोग होता है।

समाज को दिया संदेश पेड़ पौधों को बचाने को लेकर

उन्होंने पेड़ों को बचाने के लिए कागज का इस्तेमाल नहीं किया, बल्कि गमले पर ही दूल्हा-दुल्हन का नाम, विवाह के स्थान से सम्बंधित जानकारी लिखवा दी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *