Makrana ko jila |Makrana | Nagaur makrana | मकराना को जिला बनाने को लेकर हुवी बैठक 

 

Makrana ko jila: मकराना नागौर जिले में अब नया जिला बनाया जाना प्रस्तावित है, जिसके लिए हाल ही में जिला कलेक्टर नागौर ने जिले के सभी उपखण्ड अधिकारियों से प्रस्ताव और सुझाव आमंत्रित किए हैं

Makrana ko jila बनाने को लेकर हुवी बैठक

नागौर जिले में जब से नागौर कलेक्टर ने 7 दिन में प्रस्ताव मांगे है तभी से नागौर जिले की 4,5 तहसील इस लाइन में जुट गई है उसमें मकराना भी प्रबल दावेदारी रखता है इस को मद्देनजर रखते हुवे विभिन्न सदस्यों ने बैठक बुलाई ओर makrana ko jila बनाने की मांग रखी।

जिला कलेक्टर नागौर ने जिले के सभी उपखण्ड अधिकारियों से प्रस्ताव और सुझाव आमंत्रित किए हैं। इसे देखते हुए गुरूवार शाम को 5 बजे मकराना विकास समिति के तत्वावधान में शहर की सभी संस्था पदाधिकारियों और नागरिकों की एक संगोष्ठी बैठक स्थानीय होटल गणगौर में अध्यक्ष नीतेश जैन की अध्यक्षता में आयोजित हुई।

मकराना की प्रबल दावेदारी”

अध्यक्ष जैन ने बताया कि नागौर जिले का विभाजन करके एक नया जिला बनाने हेतु जिला कलेक्टर पीयूष सामरिया 7 दिनो के भीतर प्रस्ताव देने का अवसर दिया है। इस सर्वोत्तम अवसर में मकराना की प्रबल दावेदारी बनती है, जिसके लिए सभी को सामूहिक प्रयास करने होंगे।

4 लाख लोगों को रोजगार

उन्होंने कहा कि मकराना का संगमरमर पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। यहां 750 मार्बल खानें है जिनसे 4 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलता है। सरपंच संघ जिलाध्यक्ष प्रकाश भाकर ने कहा कि नागौर जिले में मकराना सबसे बड़ी व्यापारिक मण्डी है जो कि जिला बनने की सभी प्राथमिकताएं पूरी करता है। उन्होंने सामूहिक रूप से सकारात्मक प्रयास की आवश्यकता जताई और अपनी और से पूरा सहयोग देने का भरोसा दिलाया।

कार्य योजना पर चर्चा

Makrana ko jila

वक्ताओं ने मकराना को नया जिला मुख्यालय बनाने की कार्ययोजना पर विस्तृत चर्चा की। विभिन्न संगठनो के पदाधिकारियों ने अपने अपने संगठन के लैटरपैड पर मकराना को जिला बनाने की मांग रखी एवं जिले की प्राथमिकता दर्शाते हुए आंकड़े पेश किए।

कई पदाधिकारी मौजूद रहे

इस अवसर पर सरपंच संघ के नागौर जिलाध्यक्ष प्रकाश भाकर, सरपंच संघ मकराना अध्यक्ष दिलीप सिंह गेलासर, सजाऊदीन गेसावत, एडवोकेट कैलाश काबरा, इंडस्ट्रियल एरिया एसोसिएशन अध्यक्ष भागूराम आंवला, लगनशाह कमेटी अध्यक्ष अब्दुल अजीज गहलोत, सलीम उस्ता, श्यामसुंदर स्वामी, मिथिलेश मारू, रणवीर सिंह बांसड़ा, रामस्वरूप सोलंकी, अरुण सोलंकी, मोहन सिंह चौहान, बिक्रम सिंह राठौड़, इब्राहिम गेसावत, बजरंग सिंह, राजीव सोलंकी, मुगयर गेसावत, सोहन दोलिया, जुगल अग्रवाल सहित सामाजिक, धार्मिक,शैक्षणिक, व्यापारिक, औद्योगिक व अन्य संगठनो के पदाधिकारी मौजूद थे।

One thought on “Makrana ko jila बनाने के लिए प्रबल दावेदारी ,7 लाख लोगों को रोजगार”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *