Platform ticket rate 2021 ,प्लेटफार्म टिकट प्राइस platform ticket rate बड़ी खबर, वापस कम कि गयी railway platform ticket rate

भारत मे कोरोनॉ में काफी तेजी से प्लेटफॉर्म टिकट के कीमतों में हुआ था इजाफा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत 5 रुपये निर्धारित थी. इसे पहले बढ़ाकर 10 रुपये किया गया था. लेकिन देश में अचानक बढ़ते हुए कोरोना के मामलों को देखते हुए इसकी कीमत 30 से 50 रुपये तक कर दिया गया

लेकिन अब फिर एक बार कोरोनॉ की धीमी गति को देखते हुवे वापस सरकार ने देश मे कुछ शहरों में वापस कीमत कम कर दी।

platform ticket rate

 

सेंट्रल रेलवे (मध्य रेलवे) द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, अब 50 रुपए की जगह प्लेटफॉर्म टिकट 10 रुपए का कर दिया गया है. आदेश के मुताबिक, सीएसएमटी, दादर, एलटीटी, ठाणे, कल्याण और पनवेल स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत अब 10 रुपये कर दी गई. ये आदेश 25 नवंबर से लागू है.

Join on whatapps

Join on telegram

  • सेंट्रल रेलवे ने घटाए प्लेटफॉर्म टिकट के दाम
  • कोरोना काल में 50 रुपए तक बढ़ाए गए थे प्लेटफॉर्म टिकट के दाम

भारत में कोरोना का कहर कम हो गया है. ऐसे में रेलवे ने तमाम पाबंदियों को हटाना शुरू कर दिया है.

 

हाल ही में रेलवे ने सभी स्पेशल ट्रेनों को खत्म कर सामान्य परिचालन शुरू करने का फैसला किया है. इसी बीच सेंट्रल रेलवे ने अब प्लेटफॉर्म टिकट के दाम कम करने का फैसला किया है.

platform ticket rate  कोरोना के समय बढ़ाये थे

रेलवे ने कोरोना वक्त में रेलवे का परिचालन बंद कर दिया था. लेकिन बाद में जब कोविड के हालात सुधरने लगे तो भारतीय रेलवे धीरे-धीरे ट्रेनों का परिचालन बहाल करना शुरू कर दिया और सभी ट्रेनों के नंबर बदलकर स्पेशल कैटेगरी में कर दिया गया था.

इसी के साथ ट्रेनों के टिकट की कीमतों में भी इजाफा किया गया था. रेलवे ने कोरोना काल में प्लेटफॉर्म टिकट के दाम को बढ़ाकर 50 रुपए तक करने का फैसला किया था. ताकि प्लेटफॉर्म पर भीड़ कम की जा सके. 

राजस्थान व नागौर जिले की अन्य तहसील की खबर

Rajasthan

Home page

India

स्पेशल से सामान्य हुईं ट्रेनें platform ticket rate

अब जबकि कोविड की दूसरी लहर लगभग पूरी तरह समाप्त हो चुकी है और पूरे देश में बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन भी जारी है. जिसको देखते हुए

रेलवे कोविड के दौरान स्पेशल नंबर से चलने वाली सभी ट्रेनों को सामान्य श्रेणी में लाने का फैसला किया है. रेलवे के इस फैसले के मुताबिक, अब सभी ट्रेनों का नंबर एक बार फिर पहले की तरह हो गए और ट्रेनों का नंबर बदलने के साथ ही यात्री किराए में भी काफी फर्क पड़ा है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *