Bhagwad Gita Gujarat: गुजरात में नई शिक्षा नीति के तहत राज्य के स्कूलों में श्रीमद्भावत गीता पढ़ाई जाएगी। सभी स्कूलों में 6ठी क्लास से 12वीं क्लास के कोर्स में शामिल किया गया है।

Bhagwad Gita Gujarat school:

गुजरात के स्कूलों में श्रीमद्भावत गीता पढ़ाई जाएगी। गुजरात सरकार ने नई शिक्षा नीति के तहत इसका ऐलान किया है। सभी स्कूलों में 6ठी क्लास से 12वीं क्लास के कोर्स में डाला गया है। छात्रों को गीता के सिद्धांतों और मूल्यों को पढ़ाया जाएगा। 

मुख्य बातें
  • नई शिक्षा नीति के तहत गीता पढ़ना अनिवार्य होगा।
  • छात्रों को गीता के सिद्धांतों और मूल्यों को पढ़ाया जाएगा।
  • सभी स्कूलों में 6ठी क्लास से 12वीं क्लास के कोर्स में शामिल किया जाएगा।

नई शिक्षा नीति के तहत गीता पढ़ना अनिवार्य होगा। गुजरात से शिक्षा मंत्री जीतू वघानी ने इसका ऐलान किया। 6 क्लास से 12 के क्लास के छात्रों को गीता के सिद्धांत और मूल्यों को समझाया जाएगा। 

 

Anti corruption helpline: पंजाब में जारी होगा एंटी करप्शन हेल्पलाइन नंबर, 23 मार्च को नंबर जारी करेंगे

Holi Rajasthan police: राजस्थान पुलिस में छाया शोले का ‘खुमार’, जय-वीरू, गब्बर के ये डॉयलॉग्स हंसा-हंसाकर कर देंगे लोटपोट

श्रीमद्भागवत गीता सार को गुजरात के स्कूलों में छठी से 12वीं कक्षा के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा. गुरुवार को गुजरात सरकार की ओर से जारी की गई नई शिक्षा नीति में इस बात का ऐलान किया गया है. नई शिक्षा नीति के तहत अब प्रदेश के सभी स्कूलों में छठी से 12वीं कक्षा के तक के बच्चों को भगवत गीता के सिद्धांत और मूल्यों को पढ़ाया जाएगा. 

Bhagwad Gita Gujarat

सरकार की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि स्कूल के बच्चे गीता के ज्ञान और उसके मूल्यों को जान सकें इसके लिए गीता पर वक्तृत्व स्पर्धा, श्र्लोक गान और साहित्य का आयोजन भी किया जाएगा. गुजरात सरकार ने स्कूलों में भगवत गीता को पढ़ाने का ऐलान ऐसे वक्त में किया है, जब प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *