Whatsapp Group Admin: व्हाट्सप्प ग्रुप एडमिन के लिए न्यायालय ने सुनाया अहम फैसला

Whatsapp Group Admin: केरल उच्च न्यायालय ने कहा है कि किसी भी व्हाट्सएप एप गुप के एडमिनिस्ट्रेटर (प्रबंधक) या सृजनकर्ता को उसके किसी सदस्य द्वारा डाली गयी किसी आपत्तिजनक सामग्री के लिए परोक्ष रूप से जवाबदेह नहीं ठहराया जा सकता है।

Whatsapp Group Admin ,जाने पूरा मामला

नेशनल डेस्क: केरल उच्च न्यायालय ने कहा है कि किसी भी व्हाट्सएप एप गुप के एडमिनिस्ट्रेटर (प्रबंधक) या सृजनकर्ता को उसके किसी सदस्य द्वारा डाली गयी किसी आपत्तिजनक सामग्री के लिए परोक्ष रूप से जवाबदेह नहीं ठहराया जा सकता है। उच्च न्यायालय ने किसी व्हाट्सग्रुप के एडमिन के विरूद्ध पोक्सो मामला खारिज करते हुए यह फैसला सुनाया है।

Whatsapp Group Admin

इस ग्रुप के एक सदस्य ने अश्लील सामग्री डाल दी थी। अदालत ने कहा कि जैसा कि बंबई और दिल्ली उच्च न्यायालय ने जो व्यवस्था दी है, वह यह है कि ” किसी व्हाट्सग्रुप में अन्य सदस्यों के संदर्भ में एडमिन का विशेषाधिकार बस इतना है कि वह इस ग्रुप में किसी को भी जोड़ सकता है या किसी सदस्य को हटा सकता है।”

यह भी पढ़े

Russia Ukraine War Live: रूस ने दागी मिसाइल, 2 शहरों पर किया कब्जा

Borewell news hindi: सीकर में 5 साल का बच्चा गिरा बोरवेल में, रेस्कयू आपरेसन जारी

केरल उच्च न्यायालय ने कहा, ”कोई भी सदस्य उस ग्रुप में क्या पोस्ट कर रहा है, उसपर एडमिन का भौतिक या किसी अन्य प्रकार का नियंत्रण नहीं होता है। वह ग्रुप में किसी संदेश में तब्दीली या सेंसर (रोक) नहीं कर सकता। ” उसने कहा, ”इसलिए, किसी व्हाट्सग्रुप में बस उस हैसियत से काम कर रहे सृजनकर्ता या प्रबंधक को ग्रुप के किसी सदस्य द्वारा डाली गयी किसी आपत्तिजनक सामग्री के लिए परोक्ष रूप से जवाबदेह नहीं ठहराया जा सकता है।”

‘फ्रेंड्स’ नामक एक व्हाट्सग्रुप के लिए आया मामला

वर्तमान मामले में याचिकाकर्ता ने ‘फ्रेंड्स’ नामक एक व्हाट्सग्रुप बनाया था और उसने अपने साथ दो अन्य व्यक्तियों को भी एडमिन बनाया था, उन्हीं दो में से एक ने बच्चे की अश्लील हरकत वाला कोई वीडियो डाल दिया।

परिणामस्वरूप पुलिस ने उस व्यक्ति के विरूद्ध सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम एवं बाल यौन अपराध संरक्षण कानून के तहत मामला दर्ज किया

पुलिस ने ग्रुप एडमिन को मुलजिम मानते हुवे गिरफ्तार कर लिया, ओर जिसने पोस्ट डाली उसके खिलाफ कम कार्यवाही की।

मामला कोर्ट में जाने पर Whatsapp Group Admin को जिम्मेदार नही माना गया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *