Zero Hunger Yojana Rajasthan 2022: Rajasthan: प्रदेश सरकार अब `जीरो हंगर` योजना पर करेगी काम, जानिए क्या है योजना

Zero Hunger Yojana Rajasthan: प्रदेश की गहलोत सरकार हर व्यक्ति को गुणवत्तायुक्त भोजन मिले इसके लिए ‘जीरो हंगर’ योजना और रणनीति के साथ काम करेगी. आज की बैठक में लिया अहम फैसला

हाईलाइट

  • हर व्यक्ति को गुणवत्तायुक्त भोजन मिले
  • जीरो हंगर’ योजना के तहत आगे बढ़ेंगे
  • खाद्य की गुणवत्ता में अत्यधिक सुधार

जीरो हंगर योजना क्या है What is zero hunger scheme

Zero hunger scheme: सीएस निरंजन आर्य ने विश्व खाद्य कार्यक्रम डब्ल्यूएफपी के वर्ष 2023-27 के दौरान राज्य में खाद्य एवं पोषण के लिए किए जाने वाले कार्यों के संबंध में आयोजित वर्चुअल बैठक की. मुख्य सचिव ने कहा कि देश-प्रदेश ही नहीं बल्कि दुनिया में कहीं भी किसी व्यक्ति को खाना नहीं मिलना अमानवीयता है.

Zero Hunger Yojana Rajasthan

उन्होंने इसे चुनौती के रूप में लेते हुए समस्या के कारणों को पहचान कर कार्य करने को कहा. आर्य ने राजस्थान में इस संबंध में किए जा रहे प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य सरकार हर व्यक्ति को गुणवत्तायुक्त खाना उपलब्ध कराने के लिए जवाबदेही के साथ कार्य कर रही है.

Join on whatapps

कोई भूखा न सोए के तहत आगे बढ़ाया कदम

सरकार ने कोरोना काल के दौरान ‘कोई भूखा न सोए’ के संकल्प के साथ इसकी प्रभावी क्रियान्विति सुनिश्चित की. राज्य सरकार ने अभिनव पहल करते हुए ‘इन्दिरा रसोई योजना’ के माध्यम से शहरों में जरूरतमंद लोगों को बेहद कम कीमत पर गुणवत्ता वाला अनुदानित भोजन उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया है. उन्होंने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली, स्कूलों में मध्याह्न भोजन और आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से महिलाओं और बच्चों को पोषणयुक्त भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है.

Zero Hunger Yojana Rajasthan 2022 

मुख्य सचिव ने वर्तमान में विभिन्न खाद्य कार्यक्रमों के माध्यम से उपलब्ध कराए जा रहे खाद्य की गुणवत्ता सुनिश्चित करने और दूसरे राज्यों से आने वाले जरूरतमंद लोगों जैसे विशेष समूहों को इन कार्यक्रमों में शामिल करने के सुझाव दिए. उन्होंने राज्य में एनिमिक समस्या को चुनौती बताते हुए विशेष फोकस करने पर जोर दिया. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *